Bengal Election: कभी भारत के लिए खेले थे एक-साथ, अब राजनीति में भिड़ेंगे Manoj Tiwary और Ashok Dinda

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल (West Bengal) विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) की पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने 200 से ज्यादा सीट जीतकर एक बार फिर से अपनी सरकार बनाई. इस बार बंगाल के चुनाव में क्रिकेट की फील्ड के भी दो दिग्गज खिलाड़ियों ने अपना जोर आजमाया था. ये दोनों ही खिलाड़ी अपनी-अपनी पार्टी से चुनाव जीत भी गए. 

मनोज तिवारी ने मारी बाजी 

पूर्व भारतीय बल्लेबाज मनोज तिवारी (Manoj Tiwary) बंगाल चुनाव से ठीक पहले तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए थे. 35 साल के मनोज तिवारी ने शिबपुर विधानसभा क्षेत्र से जीत हासिल की. उन्होंने भाजपा के रतिन चक्रवर्ती को 32 हजार से ज्याद वोटों से हराकर राजनिती की पिच पर शानदार शुरुआत की. चुनाव जीतने के बाद मनोज तिवारी ने कहा, ‘मैं चुनाव के लिए तैयार था और मैंने जीत के लिए कड़ी मेहनत भी की थी. मैंने शिबपुर में हर घर जाकर प्रचार किया था.’

डिंडा ने भाजपा से जीता चुनाव 

वहीं टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज अशोक डिंडा (Ashok Dinda) ने भाजपा (BJP) की ओर से चुनावी दंगल में जोर आजमाया. डिंडा ने मोयना (Moyna) विधानसभा क्षेत्र से जीत दर्ज की. डिंडा ने टीएमसी के संग्राम कुमार दोलाई को 1200 से अधिक वोटों से मात दी. संग्राम कुमार मोयना सीट से एक दिग्गज उम्मीदवार हैं और उन्होंने पिछला चुनाव 12 हजार से अधिक वोटों से जीत हासिल की थी. 

अब एक-दूसरे से होगा सामना

भारत के लिए क्रिकेट की पिच पर एक साथ खेलने वाले ये दोनों खिलाड़ी अब बंगाल विधानसभा में एक-दूसरे के सामने होंगे. मनोज तिवारी टीएमसी की ओर से मैदान में होंगे तो अशोक डिंडा बीजेपी की ओर से मोर्चा संभालेंगे. तिवारी ने भारत के लिए 12 वनडे और 3 टी20 मैच खेले हैं. जबकि डिंडा ने 13 वनडे और 9 टी20 मैचों में भारत का प्रतिनिधत्व किया है.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *