अशोक लेलैंड ने कहा- मांग में कमी, गाड़ियों के प्रोडक्शन में करेंगे कटौती 

हिंदुजा ग्रुप की फ्लैगशिप कंपनी अशोक लेलैंड ने कोरोना की दूसरी लहर से मांग में कमी आने के चलते अपने मैन्युफैक्चरिंग प्लांट्स में प्रोडक्शन घटाने का फैसला किया है. कंपनी ने रेगुलेटरी फाइलिंग में बताया कि उसने हालात पर बारीकी से गौर करने पर पाया है कि एक तरफ तो मांग को पूरी करने की जरूरत है. लेकिन सप्लाई चेन की दिक्कतें  भी हैं. मांग घटने की वजह से कंपनी अपने कुछ मैन्युफैक्चिंग प्लांट में प्रोडक्शन घटाएगी. 

कंपनी ने कहा, सभी प्रोडक्ट्स की डिमांड घट सकती है

कंपनी ने कहा है कि सभी प्रोडक्ट्स की डिमांड अस्थायी तौर पर घटने का अनुमान है. कंपनी ने कहा, उसके  प्लांट्स में प्रोडक्शन घटाया जा रहा है और इनके मई में 7-15 दिन तक चलने की उम्मीद है. हम देश में कोरोना की स्थिति के अनुसार बिजनेस से जुड़े कदम उठाएंगे. कंपनी ने बताया कि वह डिफेंस व्हीकल्स की जरूरत को पूरा करना जारी रखेगी और इसके साथ ही कॉमर्शियल व्हीकल पोर्टफोलियो के लिए जरूरी पार्ट्स की सप्लाई को भी पक्का किया जाएगा.

‘स्वास्थ्य और सुरक्षा पर हमारा ध्यान’ 

देश की इस दूसरी सबसे बड़ी कॉमर्शियल व्हीकल कंपनी ने कहा कि वह अपने कर्मचारियों, उनके परिवारों और कस्टमर्स, डीलर्स, और सप्लायर्स सहित पूरे इकोसिस्टम के ठीक रहने को लेकर प्रतिबद्ध है. अशोक लेलैंड ने कहा, “हम स्वास्थ्य और सुरक्षा पर ध्यान दे रहे हैं. हमारी इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम ने सभी स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर की समीक्षा की है. हम चाहते हैं के ये पूरी तरह लागू हों. इसके साथ ही कंपनी कर्मचारियों और उनके परिवारों के वैक्सीनेशन की निगरानी कर रही है और वैक्सीनेशन के लिए कंपनी के प्लांट्स में कैम्प लगाए जा रहे हैं.कोरोना के मामले लगातार बढ़ने के साथ बहुत सी ऑटोमोबाइल कंपनियों ने कुछ दिनों के लिए प्रोडक्शन रोक दिया है या इसमें कमी की है. देश की सबसे बड़ी कार मैन्युफैक्चरर मारुति सुजुकी ने भी मई में अपने प्लांट को कुछ दिनों के लिए बंद रखने का फैसला किया है.

अप्रैल में गाड़ियों की बिक्री को तगड़ा झटका, मारुति से महिंद्रा एंड महिंद्रा तक, सबकी परफॉरमेंस खराब 

निर्यात में तीन गुना की बढ़ोतरी, अप्रैल में व्यापार घाटा भी बढ़ा

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *